Wed. Jul 6th, 2022

आज मैं अपने ज़िन्दगी की एक बहूत ही खूबसूरत पल को मैं नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के दोस्तों को शेयर कर रहा हु, ये मेरी ज़िन्दगी का सबसे खूबसूरत पल था, और मुझे ऐसा लगता है की ऐसा फिर कभी नहीं आने बाला है, दोस्तों आज मैं आपको अपनी साली से साथ जो सेक्स सम्बन्ध बनाया था उसी के बारे में डिटेल्स से बताऊंगा. आशा करता हु की आपको मेरी ये चुदाई की कहानी बहूत ही अच्छी लगेगी.

मैं जैसे ही अभी इस कहानी लिख रहा हु, पुरानी यादें फिर से मेरे जहन में ताजा हो गई है. और मेरा लंड खड़ा हो गया है, ऐसा लग रहा है, फिर से वो चीज रिवाइंड हो गई है, और सब कुछ मेरे नजरों के सामने है…………. वो बरसात की रात……… आह…….. दोस्तों मैं अब सीधे कहानी पर आता हु, क्यों की मैं भी नहीं चाहता की अब कुछ देर हो इस कहानी में.

मेरा नाम राजेश है, मेरी शादी को हुए अभी 1 साल हुए है, मेरे ससुराल में सिर्फ मेरी सास और मेरी साली रहती है, मेरी बीवी मेरे साथ दिल्ली में रहती है, किसी काम से मुझे गाँव जाना पड़ा, ससुराल भी गया क्यों की, मेरे ससुर नहीं है उनका देहांत हो गया है और साला भी नहीं है तो मैं ही मर्द हु उनके परिवार में तो मेरी रेस्पोंसिब्लिटी बढ़ गई है. मेरी सास की उम्र ज्यादा नहीं हो रही है, अभी भी वो बहूत ही ज्यादा हॉट लगती है. मैं सुबह करीब १० बजे ससुराल पहुच गया, बात चीत हुई, मेरी सास और साली दोनों काफी खुश थे मेरे आने से. सब ने खूब एन्जॉय किया, पर मेरे सास के मायके से फ़ोन आ गया की उनके नानी का तबियत ख़राब है, तो मेरी सासु माँ बोली बेटा, मुझे जाना जरूरी है. तुम और सिमर दोनों यही रहो, कल मैं दोपहर तक आ जाउंगी. और वो अपने मायके यानी के मामा जी के यहाँ चली गई.

अब मैं आपको अपने साली के बारे में बता दू. जैसा की आपको नाम पता चल गया है, सिमर, सिमर बहूत ही खूबसूरत है, भगवान् ने बड़े ही फुरसत से उसको बनाया है, एक एक अंग उसका ऐसा लगता है दूध से धुला है, गजब की पर्सनालिटी दी है ऊपर बाले ने, अभी बहूत भरी पूरी नहीं है वो जवानी की दहलीज पर ही है, अभी वो १८ साल की है, दोस्तों जब मेरी सासु माँ अपने मायके चली गई तो मेरी नियत ख़राब हो गई उसको देखकर, मेरे अंदर का वासना जाग उठा, मुझे लगा की मेरा माल कोई पहले खा जाए इसके पहले मैं ही क्यों ना खाऊं, अब मेरी निगाह चेंज हो गई थी उसको देखकर, सासु माँ के जाते ही वो बोली जीजू, मैं नहा कर आती हु, फिर हम दोनों कहना खायेगे, मैंने कहा ठीक है मैडम जैसी आपकी आज्ञा.

उसके बाद मेरी साली बाथरूम में चली गई. मैं अपने कमरे से निकला और उसके बाथरूम के पास पंहुचा, अंदर नल चलने की आवाज आ रही थी, मैं दरवाजे के एक छोटे से होल से देखा तो वो मुझे साफ़ साफ़ दिखाई दी, पहले तो मैंने सिमर के पीछे देखा, गांड गजब की गोरी, पीठ मजेदार, और वो पानी का मग डालना और पानी निचे तक ससर कर गिर जाना, ओह्ह्ह मैं तो सोच रहा था काश मैं पानी होता तो मैं पुरे बदन को सहलाते हुए निचे आता, तभी वो फिर मेरे तरफ घूम गई. दोस्तों मैं तो पागल हो गया और मेरे मुह से अनायास ही ओह्ह माय गॉड की आवाज निकला और फिर मैंने बोला क्या माल है यार………. दोस्तों गुलाबी होठ, लंबी गर्दन, निम्बू की तरह छोटी छोटी बूब्स, ऊपर से कत्थई रंग की निप्पल उसपर लगे छोटे से मटर के दाने, सपाट पेट, चूत के पास एक दम साफ़ और गोरी, जंघे गोरी और वो पानी डालते डालते साबुन अपने बूब्स पे अपने पेट पे अपने आर्मपिट पे गांड पे चूतड़ पर, चूत के एरिया में, क्या बताऊँ दोस्तों मैंने अपना लंड निकाल लिया हाथ में, लगा की यही हस्त्मैथुन कर दू, पर रूक गया, मैंने सोचा की अगर मैंने गिरा दिया तो गलत हो जायेगा, आज किसी तरह से मुझे चुदाई करना है. तभी उनका नहाना हो गया और मैंने वह से फिर अपने कमरे में आ गया.

दोस्तों वो निकली तो मैं वही सोच रहा था काश उनके बूब्स को जीभ से सहलाता तो कितना मजा आता, क्यों की मेरे सामने पूरा बदन आ रहा था, वो आई और बोली मैं कहना निकालती हु, वो दो थाली में कहना निकाली, और मैंने चाल चलना शुरू कर दिया, मैंने बोला सिमर क्यों ना आज एक ही थाली में खाते है, मैंने और आपकी दीदी दोनों साथ ही खाते है, तो आप मुझे यहाँ अकेले खिलाओगी, तो उन्होंने कहा तो आप थोड़े देर में आप कहोगे की सिमर आपकी दीदी मेरे साथ सोती है तो आप भी सोओगे, मैंने समझ गया की ये अब सब बात को समझने लगी. मैंने कहा क्या होगा अगर सो ही जाओगी तो? तो सिमर बोली नहीं जी…… मैं अभी छोटी हु… मैंने कहा सिमर अब आप छोटी नहीं हो. अब आप बड़ी हो गई हो, और मैं आज आपको छोड़ने बाला नहीं हु, सिमर बोली ना बाबा ना मैं नहीं सोऊंगी….. मैंने सोचा की अभी जल्दबाजी करना सही नहीं धीरे धीरे लाइन पर लाएंगे..

और हम दोनों ने कहना खाया, और फिर बेड पर बैठकर, हम दोनों लैपटॉप में मूवी देखने लगे, हम दोनों पेट के बल झुक कर मूवी देखने लगे. उनके टॉप्स के गले के पास से उनकी दोनों बूब्स मुझे दिखई देने लगी और मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा, सिमर की नशीली आँखे मुझे बैचेन करने लगी. और मैंने फिर सिमर को बोला सिमर, आपके होठ बहूत ही गुलाबी है. तो वो बोली क्यों दीदी की भी तो गुलाबी है, तो मैंने कहा दीदी का तो रोज चूसता हु, पर ये होठ….. तो सिमर बोली अच्छा माँ नहीं है तो मौके का फायदा उठाना चाहते हो. मैंने कहा नहीं जी. सच में आपको बहूत चाहता हु, काश मेरी शादी आपके साथ होती…. तो सिमर बोली चलो मान लो की मेरी शादी आपके साथ होती तो क्या होता, तो मैंने कहा मैं तो रात दिन आपके अपने बाहों में लिए रखता.. दोस्तों ये बात सुनकर उनके मन में भी शायद कुछ होने लगा., और वो चुप हो गई. मैंने कहा सिमर. सच कह रहा हु, मैं आपको बहूत प्यार करता हु, वो चुप रही और मैंने उनके होठ को अपने ऊँगली से छु दिया.

वो चुपचाप ही रही, मैंने फिर उनके होठ को किश कर दिया, तो सिमर बोली आप ये बात दीदी को तो नहीं बताओगे, मैंने कहा मैं क्या पागल हु, जो ये बात बताऊंगा. और मैंने सिर्फ ये रिश्ता आज के लिए ही रखना चाहता हु, ताकि आपको भी सब कुछ समझ आ जाये, सिमर बोली ठीक है. और मैंने इतना सुनते ही उनके ऊपर चढ़ गया और होठ को चूसने लगा. धीरे धीरे वो भी गरम हो गई और फिर वो भी मेरे बाल को पकड़ते हुए मेरे होठ को चूसते हुए वो अपना जीभ मेरे मुह में डालने लगी. और मैंने भी वाइल्ड तरीके से यानी की इमरान हाश्मी के स्टाइल में किश करने लगा.

फिर मैंने उनके ड्रेस उतार दिए मैंने भी अपना कपडा खोल दिया, पहले तो मैंने जम कर उनके नीबू के भांति बूब्स को खूब पिया, फिर निचे आकर चूत चाटा,ल उनकी चूत काफी लाल थी और अंदर कोई भी छेद दिखई नहीं दे रहा था, मैं समझ गया की वो आज तक कभी चुदाई नहीं की है. और मैंने कहा घुसाऊं चूत में तो वो बोली ठीक है धीरे धीरे, और मैंने अपने लंड पे थोड़ा थूक लगाया और उनके वर्जिन चूत पे रखा और, तीन चार बार कोशिश करने के बाद मैंने चूत पे लंड की डाल दिया, आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है, उसके बाद वो चिल्ला उठी, दर्द हो रहा है. दर्द हो रहा है, मैंने अपने लंड को बाहर नहीं निकाला, और फिर मैंने उनके बूब्स को सहलाने लगा. वो धीरे धीरे चुप हो गई और मैंने अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा. मेरे लंड में खून लगा था, अब वो धीरे धीरे मजे लेने लगी. और फिर तो दोस्तों क्या बताऊँ, कभी ऊपर से कभी निचे से कभी बैठ कर कभी खड़े होकर, हम दोनों पोर्न स्टार की तरह चुदाई करने लगे. रात भर बरसात हो रही थी और मैं सिमर को चोदे जा रहा था और खूबसूरत शरीर का आनंद ले रहा था.

24 घण्टे में मैंने करीब १० बार सिमर को चोदा, मैंने सिमर के वर्जिन चूत की धज्जियाँ उड़ा दी. वो सुबह चल नहीं पा रही थी क्यों की पहली बार लंड का मजा लिया था, दोस्तों ये मेरी ज़िन्दगी की सबसे खूबसूरत माल की चुदाई थी. मुझे पता है की मैं इसको पूरी ज़िन्दगी नहीं भूल पाउँगा. जैसे की आपके ज़िन्दगी में भी कोई चुदाई होगी जो आप कभी नहीं भूलेंगे. आपको कहानी कैसी लगी रेट जरूर करें. प्लीज.

Very hot kamuk sexy story in hindi font sali ki chudai ki kahani Jija Sali Sex : Sasural me sali ki chudai ki story, virgin saali ki chudai

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.