Mon. Jul 4th, 2022

सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

मेरा नाम विजय है। मैं मुंबई के अँधेरी इलाके में रहता हूँ। मुझे ये शहर बहुत पसंद है क्यूंकि यहाँ पर सब कुछ मिलता है। हर तरह की आधुनिक चीजे यहाँ मिलती है। दोस्तों मेरी शादी अभी 2 साल पहले अलीशा से हुई है। वो बहुत सुंदर और सेक्सी लकड़ी है। रोज रात में तरह तरह के पोज से चूत और गांड मरवाती है। मेरा लंड चूस चूसकर मुझे गर्म करती है, उसके बाद तरह तरह से चुदवा लेती है। अलीशा को चूत में लंड लेने में बड़ा आनन्द आता है और हर रात तरह तरह से सेक्स करती है। कभी मेज पर झुककर, कभी कुतिया बनाकर, कभी मेरे लंड पर सवारी करती है। कभी दीवाल के साइड खड़े होकर चुदवाती है।

मेरी उसकी बहुत पटरी खाती है और हम दोनों को जोशीले धक्के वाला सेक्स करना पसंद है। मेरी बहन कामिनी भी अब 24 साल की जवान माल हो गयी थी और मेरी वाईफ से उसकी बड़ी दोस्तों थी।

“जान!! तुम किसी तरह से मेरी बहन को पटा लो। उसके साथ समलैंगिक सम्बन्ध बना लो फिर तुम दोनों की चुदाई एक साथ कर डालूं” एक दिन मैंने अपनी बीबी अलीशा से बोला

“ठीक है पति देव!! अब आपकी बहन को चुदक्कड रंडी बनाने की जिम्मेवारी मेरी है” अलीशा बोली

फिर वो अपने जॉब पर लग गयी। जब घर में भाभी और नन्द (यानी की मेरी बीबी अलीशा और कामिनी) घर पर अकेले रहती तो अलीशा उसे सेक्स ज्ञान देने लगी। दोनों में गाढ़ी दोस्ती थी।

“कामिनी!! कभी चुदाई वाली पिक्चर देखी है क्या??” एक दिन अलीशा ने कामिनी ने पूछा

“नही भाभी!!” कामिनी बोली

“चल आज तेरे को सेक्स ज्ञान देती हूँ। कल को तू ससुराल जाएगी तो तेरे काम आएगा” अलीशा ने कहा

फिर उसे लैपटॉप खोलकर गरमा गर्म चुदाई वाली फिल्म दिखाने लगी। ये सब देखकर कामिनी दूसरी दुनिया में पहुच गयी। मेरी बीबी ने उसे चूत और लंड दोनों के गहरे रिश्ते के बारे में बताया। ये भी बताया की चुदवाने में कितना आनन्द आता है। फिर मेरी बीबी ने उसे लेस्बियन वाली फिल्म दिखाई जो कामिनी को बहुत पसंद आई। इस तरह से रोज ही अलीशा कामिनी को चुदाई वाली फिल्मे दिखाने लगी। लडकियाँ हस्त मैथुन कैसे करती है ये भी सिखा दिया। अब मेरी जवान जिस्म वाली बहन पूरी तरह से बिगड़ गयी और रोज ही अपनी चूत में उगली डालकर हस्त मैथुन कर लेती थी। मेरी बीबी अलीशा अपने काम में कामयाब हो गयी थी।

“चलो कामिनी!! आज हम लोग लेस्बियन वाला खेल खेलते है” एक शाम अलीशा ने कामिनी से कहा

दोनों बेडरूम में चली गयी और एक दूसरे को होठो पर किस करने लगी। जहाँ मेरी बीबी अलीशा 27 साल की कड़क माल थी और 36 28 38 का फिगर था, वही मेरी चुदासी बहन अब 24 साल की थी और 34 28 36 का फिगर था उसका। दोनों मेरे वाले बेडरूम में चली गयी जो बहुत लक्सरी था। उसमे ए सी लगी थी। सर्दियों में भी कमरा गर्म हो जाता था। अलीशा ने ए सी ऑन कर दी और दोनों किस करने लगी। दोनों ही लड़कियाँ यौवन से भरपूर थी इसलिए दोनों चुदने के मूड में थी।

अलीशा ने कामिनी को बाहों में भर लिया और बोली “आज तू ही मेरी लवर है” फिर दोनों किस करने लगे। दोनों एक दुसरे के दूध दबाने लगी। धीरे धीरे दोनों ने अपने कपड़े उतारने शुरू किया। मेरी बहन अलीशा के ब्लाउस के बटन खोलने लगी और उसे किस कर करके नंगा करने लगी। फिर उसकी साड़ी उतार दी। कामिनी अब उसके पेट पर चुम्मा देने लगी। फिर उसका पेटीकोट उतार दिया। अब मेरी बीबी सिर्फ पेंटी में थी। फिर अलीशा ने भी ऐसा ही किया। धीरे धीरे मेरी बहन कामिनी का सलवार सूट उतार दिया। फिर ब्रा खोल डाली।

दोनों भाभी और नन्द अब बिस्तर पर लेट गयी और एक दूसरे को बाहों में भरके मजे करने लगी। अलीशा कामिनी के उपर आ गई और उसके गुलाबी गुलाब जैसे होठो का चुम्बन लेने लगी। दोनों ऐसे किस कर रही थी जैसे मर्द और औरत आपस में करते है। फिर अलीशा कामिनी के 34” के दूध को मुंह में लेकर चूसने लगी। हाथ से दबा दबाकर चूस रही थी। फिर उसकी पेंटी उतारके चाटने लगी और रस निकलवा दिया। यही सब काम कुछ देर बाद कामिनी ने अलीशा के साथ किया। फिर अलीशा कमरे से बहाना बनाकर बाहर आई और मुझे काल किया। मुझे काल कर दिया।

मैं घर के पास ही वेट कर रहा था। मेरी बहन को मेरे बारे में नही पता था। मैं घर में धीरे से गया और सारे कपड़े निकाल दिए। मैं एक 6 फिट का जवान मजबूत बदन का मर्द था। मेरा लंड भी 10” से जादा लम्बा और 2” से अधिक मोटा था। मैं जब पूरी तरह से नंगा हो गया तो अपना अंडरवियर भी मैंने उतार दिया और अपने बेडरूम में चला गया। जब अंदर पंहुचा तो देखा की मेरी बहन कामिनी पूरी तरह से नंगी थी और अलीशा की चूत जल्दी जल्दी चाट रही थी।

“भैया!! आप???” मुझे देखकर वो चौक गयी और अपने दूध को हाथ से ढकने लगी

“कोई बात नही!! ये सब तेरे भैया का प्लान था” अलीशा बोली और जल्दी से कामिनी का हाथ पकड़ लिया

अब कामिनी मेरे लंड को आँखे फाड़ फाड़कर देखने लगी। मेरा लंड भी आज बड़े गुस्से में दिख रहा था और दोनों लड़कियों की चूत मार मारके उसका भर्ता बनाना चाहता था। मैं जल्दी से अपनी चुदासी बहन कामिनी के पास चला गया और उसे खींचकर बिस्तर पर लिटा दिया। फिर उसके उपर आ गया और उसे बाहों में भर लिया। कामिनी कुछ नही बोली। मैं भी आज अपनी कमसिन बहन के दोनों छेदों को चोदना चाहता था। इसलिए मैं उन्मादी हो गया और कामिनी के दोनों हाथ कसके पकड़ लिए और उसकी उँगलियों में अपनी उँगलियाँ फंसा दी। दोस्तों, मैंने शुरुवात कामिनी के सेक्सी होठो को चूसने से की। जल्दी जल्दी चूसने लगा तो वो भी गर्म हो गयी। “भैया!! ओह्ह भैया “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… i love you” ऐसा कामिनी बोलने लगी

मैं भी अपनी रंडी बहन की जवानी की प्यास बुझाने लगा और रोमांचित होने लगा। उसपर लेट कर होठ पर होठ रखकर चूस रहा था। उसके संतरे जैसे होठो को मुंह चला चलाकर सारा रस निकाल लिया था। इसी दौरान मेरे हाथ अपने आप उसके 34” के दूध पर चले गये। ओह्ह्ह क्या मस्त मस्त कड़ी कड़ी चूचियां थी दोस्तों। मैं हाथ लगा लगाकर सहला रहा था। फिर दबाने लगा। कामिनी सरेंडर हो गयी। उसके बाद अपनी नंगी बहन के शबनमी जिस्म का दीदार करने लगा। सर से पाँव तक उसके बदन का दीदार किया। फिर उसके गाल पर किस करने लगा। दांत लगाकर काट रहा था।

“ओह्ह भैया!!” यू आर सो सेक्सी!!” कामिनी कहने लगी

मैंने हाथ से उसके दोनों कबूतर को खूब मसल मसल कर मजा दिया। जिसमे मेरी बहन भी अब चुदने को हो गयी। फिर मुंह में लेकर उसकी 34” की चूचियां चूसने लगा। मुझे अपनी सगी बहन के दूध चूसने में बड़ा आनन्द मिला। फिर मेरी बीबी अलीशा भी बगल लेट गयी।

“अरे जी!! अपनी औरत को तो आप भूल ही गये” अलीशा बोली

“नही जान!! तुम तो मेरे दिल के बिलकुल करीब हो” मैंने कहा

दोस्तों, फिर अपनी सेक्सी बहन को छोड़ दिया और अलीशा पर जाकर लेट गया। अब जल्दी जल्दी उसके 36” की चूचियों को हाथ से दबाने लगा। फिर मुंह में लेकर चूसने लगा। दोनों लड़कियाँ काफी सेक्सी थी। इसलिए मुझे काफी मजा मिल रहा था। कुछ देर अपनी बीबी के स्तन को चूसता रहा। वो “ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह…अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” करने लगी। फिर उसके पेट पर हाथ लगाकर किस करने लगा।

“भैया!! क्या अपनी बहन से प्यार नही करोगे” उधर से कामिनी बोली

“आ रहा हूँ बहन” मैंने कहा फिर उसके पास चला गया।

अब दोनों लड़कियाँ ने बेड पर लेटकर अपने अपने पैर खोल दिए। दोनों की चूत का दर्शन मुझे होने लगा। कामिनी और अलीशा दोनों की बुर बड़ी सेक्सी थी और ये कह पाना बहुत कठिन था की किसकी चूत जादा सेक्सी है।

“जान!! हम दोनों को अपनी अपनी चूत देखनी है” अलीशा बोली

मैंने बगल से अपना 24 मेगा पिक्सल वाला फोन उठाया और दोनों की चूत की पिक खींची। फिर दोनों को बारी बारी से दिखाया। दोनों मजे लेकर देखने लगी।

“अब मैं तुम दोनों की चूत पियूँगा!!” मैंने कहा

अपना मुंह मैंने बहन कामिनी की गद्दीदार चूत पर रख दिया। ओह्ह कितनी सुंदर थी दोस्तों। बिलकुल साफ़ सुथरी और चिकनी। कुछ पल तक चूत का दर्शन पास से किया। फिर चाटने लगा। ऐसे में अलीशा कामिनी के मुंह पर मुंह लगाकर होठ चूसने लगा। मैं नीचे के साइड जल्दी जल्दी कामिनी की कमीनी चूत चाटने लगा। अब मेरी बहन “आआआअह्हह्हह…..ईईईईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” करने लगी। धीरे धीरे मैं किसी जानवर की तरह उन्मादी हो गया और अपने मुंह, ओंठो और चेहरे को कामिनी की चूत पर घिसने लगा। मैं पागलो की तरह अपने सिर और चेहरे को बहन के बड़े से भोसड़े पर घिस रहा था। दाए बाए अपने चेहरे को हिला रहा था। फिर जीभ लगाकर जल्दी जल्दी चाट भी रहा था। ऐसा करने से कामिनी को बहुत अधिक चुदास वाला जोश मिल गया और वो भी उन्मादी हो गयी।

“अई. .अई—अई करो और करो भैया!! उ उ उ उ उ…कितना मजा आ रहा है……सी सी सी” कामिनी कहने लगी

बहन के भोसड़े से मीठा रस निकल रहा था जिसे मैं शहद की तरह चाटे जा रहा था। अपने चेहरे को उसकी चूत की गद्दी पर रखकर जल्दी जल्दी दाये बाये हिला रहा था जिस वजह से मेरे पूरे मुंह में उसकी चूत का रस अच्छे से चुपड़ गया था। उधर मेरी बीबी अब कामिनी के दूध को मुंह में लेकर किसी मर्द की तरह चूस रही थी। हम तीनों को बड़ा मजा मिल रहा था। हम तीनो लेस्बियन वाला खेल खेल रहे थे। फिर मैंने अपने लंड को हाथ से जल्दी जल्दी मुठ देना शुरू कर दिया। कुछ देर में मेरा लंड लोहे की रॉड की तरह सख्त हो गया।

अब मैंने लौड़ा बहन कामिनी के भोसड़े में घुसा दिया और पकपक उसका गेम बजाने लगा। “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” कामिनी चिल्लाने लगी। मैं चूत में गमक गमक कर तेज धक्के दिये जा रहा था। कामिनी की चूत बहुत कसी थी। उसे पेलने में बड़ा आनन्द आ रहा था। उधर मेरी बीबी उसके दोनों 34” के कबूतर को दबा दबाकर चूस रही थी।

“चोदो भैया!! और जोर से झटके मारो मेरे भोसड़े में……सी सी सी सी” कामिनी कहने लगी

मैंने उसकी दोनों टांगों को पकड़कर उपर उठा दिया और किसी जानवर की तरह उसे चोदने लगा। उसकी चूत का चुकंदर बन रहा था। मेरे 10” के लंड ने उसकी चूत को अंदर तक खोद दिया था। कामिनी मजे लूट रही थी। उसकी ठुकाई मैंने 15 मिनट की।

“मेरे चूत के राजा!! आओ मेरा गेम बजाओ!” मेरी बीबी अलीशा बोली

उसने अब अपने पैर खोले। मैंने अपनी बहन को अब छोड़ दिया और अलीशा के पास चला गया। कुछ देर उसकी गुलाबी चूत को चाटा। फिर अपनी 2 लम्बी उँगलियाँ बीबी के भोसड़े में घुसा दी। अब जल्दी जल्दी चूत मथने लगा। मेरी बहन कामिनी अब अलीशा के लब मुंह लगाकर चूसने लगी और उसे लेस्बियन वाला मजा देने लगी। अलीशा भी पूरा प्यार दिखा रही थी। मैं इधर कामवासना से भरकर उसकी बुर में जल्दी जल्दी किसी मशीन की तरह ऊँगली चलाये जा रहा था। फिर कामिनी अलीशा के दूध को हाथ से जोर जोर से दबाने लगी और फिर मुंह में लेकर चूसने लगी। मैंने 10 मिनट अलीशा की बुर में ऊँगली की और उसे झाड दिया। कमर घुमाकर बदन अकड़कर अलीशा ने अपनी चूत का फव्वारा छोड़ दिया। जिसे देककर मुझे बड़ा मजा मिला।

“ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… चोदिये पति देव!! अब इंतजार किस बात का हा हा हा.. ओ हो हो….” अलीशा किसी रंडी की तरह बोली

फिर मैंने भी उसके फटे भोसड़े में लंड घुसा दिया और जल्दी जल्दी पेलने लगा। मेरी बीबी आऊ आऊ करने लगी। कामिनी उसके दोनों दूध को बारी बारी से मुंह में लेकर चूस रही थी जिससे अलीशा को बड़ी ऐश मिल रही थी। मैं जल्दी जल्दी अपने 10” लौड़े को उसकी चूत में आर पार कर रहा था। अलीशा का बुरा हाल था। मैं उसकी गद्दीदार बुर की तरफ देख देककर उनको भांज रहा था। कुछ देर में मैं झड़ने वाला हो गया था क्यूंकि काफी देर से दोनों लड़कियों के साथ सम्भोग कर रहा था। फिर मैंने जल्दी से अपना तमतमाया और गुस्सैल लौड़ा अलीशा की बुर से निकाला और हाथ से मुठ देने लगा। दोनों लडकियाँ बिस्तर पर लेट गयी।

“भैया!! हम दोनों के मुंह पर माल झारो!!” मेरी चुदक्कड बहन कामिनी बोली

मैं जल्दी जल्दी हाथ से लंड पकड़कर मुठ देने लगा। फिर मैं कांपने लगा। फिर दोनों लड़कियों के मुंह पर अपनी सफ़ेद मलाई की पिचकारी छोड़ दी। कामिनी और अलीशा के चेहरे मेरे माल की पिचकारी से रंग गये। दोनों ऊँगली से माल उठाकर मुंह में लगाकर चाटने लगी।

“उम्म्म्म भैया!! बड़ा टेस्टी है” कामिनी बोली

“अब तुम दोनों मेरा लंड चूसो!” मैंने दोनों लड़कियों से कहा

कामिनी और अलीशा दोनों मेरे आजू बाजू बैठ गयी और कामिनी ने मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी। उसे तो अब सब तरह का सेक्स ज्ञान हो गया था। मेरी बीबी ने उसे सब करतब सिखा दिए थे। वो अच्छे से मेरे लंड को पकड़कर फेटने लगी। हाथ को उपर नीचे उठा उठाकर फेट रही थी। खड़ा करने लगी। फिर मेरे लौड़े को अलीशा ने पकड़ लिया और कुछ देर फेटा। फिर दोनों जवान चुदासी लड़कियाँ बारी बारी से मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी। किसी आइसक्रीम की तरह चूसे जा रहा थी। लंड पर मुंह दबा दबाकर चूस रही थी जिससे मुझे बड़ी मौज मिल रही थी। फिर दोनों मेरी गोलियों को हाथ से दबा दबाकर चूसने लगी।

अब दोनों लड़कियाँ कुतिया बन गयी। दोनों की गांड को मैंने जीभ लगाकर चाटा और भरपूर मजा किया। फिर फ्रेंड्स मैंने अपनी ऊँगली में तेल लगाया और बारी बारी से दोनों की गांड में घुसाकर ऊँगली अंदर बाहर करने लगा। दोनों अपनी अपनी चूत को कामुक अंदाज में हाथ लगाकर सहलाये जा रही थी। जिससे दोनों को बड़ा मजा मिला।

फिर अपने 10” लम्बे और 2” मोटे लंड को मैंने कामिनी और अलीशा की गांड में घुसा दिया और मजे मजे से गांड चोदन वाला कार्यक्रम करने लगा। दोनों की माँ चुद गयी और “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ…ऊँ…ऊँ….”की कामुक आवाजे दोनों निकाल रही थी। दोनों को काफी दर्द हो रहा था क्यूंकि फ्रेंड्स गांड चोदन वाले कार्यक्रम में दर्द जरुर होता है। पहले धीरे धीरे गांड चोदी, फिर तेज तेज सटा सट चोदने लगा फिर झड़ने वाला हो गया। फिर मैंने लंड निकालकर दोनों के चूतड़ पर माल की बारिश कर दी। आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पढ़ते रहना। आप स्टोरी को शेयर भी करना।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.