Sat. Jul 2nd, 2022
Sasur Bahu Sex

Holi 2022 Sex Story : पूरी रात चोदा ससुर जी ने, चुदना चाहती थी पति से लेकिन एक गलती कर दी और फिर ससुर ने मुझे पेल दिया पूरी रात, बाद में पचास हजार मेरे हाथ पर रख दिया। पढ़िए मेरी सेक्स कहानी होली की चुदाई पर।

हेलो दोस्तों यह मेरी पहली कहानी है नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर,  सबसे पहले तो आप सभी को होली की शुभकामनाएं।  आज मैं आपको एक रंगीन सेक्सी कहानी इस वेबसाइट पर पोस्ट कर रही हूं ताकि आप लोग भी होली का अच्छे से मजा लीजिए।  यह कहानी कल रात की है और बहुत ही सेक्सी और मजेदार है।  मैं आशा करती हूं आपको यह कहानी बहुत पसंद आएगी क्योंकि यह एकदम नई और होली के दिन की है तो बिना देर किए हुए अब मैं सीधे अपने होली की चुदाई  की कहानी पर आती हूं।

मेरा नाम सुषमा है मेरी उम्र 28 साल है अभी तक कोई बच्चा नहीं है 2 साल हो गए शादी होने के।  मेरे घर में मैं मेरे पति और मेरे ससुर।  मेरे ससुर पहलवान किस्म के आदमी हैं अभी भी उनका शरीर गठीला और चुस्त-दुरुस्त है।  बाप बेटा एक जैसे लगते हैं।  कल रात मेरे से गलती हो गई और मैं पति के बजाए अपने ससुर से ही पूरी रात  वासना की आग में धधकती रही और वासना को शांत करवाती रही।  और सबसे बड़ी बात तो यह है कि मेरे ससुर ने कभी यह नहीं कहा कि बहू तुम गलती कर रही हो मैं पापा जी हूं ऐसा उन्होंने नहीं कहा।  और पूरी रात उन्होंने मेरी चुदाई  की और मैं भी उन से चुदवाती रही।

ऐसा कैसे हुआ वह मैं आपको बता देती हूं।  कल सुबह जब होली शुरू हुई तो मेरे पति के दोस्त आ गए उनके लिए मैंने नाश्ता निकाला चखना दिया मेरे पति और उनके दोस्तों ने जमकर शराब पी और यह सिलसिला रात के 8:00 बजे तक चला। रंग खेलते खेलते बीच-बीच में शराब सब लोग पी रहे थे। मैं भी अपने मन को रोक नहीं पाए और मैं भी उन लोगों के साथ ही शराब पी ली।  क्योंकि शराब पीने में जो मेरा साथ दे रही थी वहीं के दोस्त की पत्नी भी थी तो जब दौड़ते ऑलरेडी पी रही है तो मेरे से रुका नहीं गया और मैं भी शराब पी ली।

रात के 9:00 बजे एक बार फिर दो दो पैग लेकर।  हम लोग उनके एक दोस्त के यहां चले गए।  रात के करीब 10:30 बज गए थे वहां से आने में पर मेरे पति को अपने दोस्तों के यहां चुदाई  की पार्टी थी।  एक रंडी को बुला रखा था और वहीं पर पूरी रात रंगरेलियां मंती इसलिए वह मुझे  घर पर छोड़ने आए थे।  पर नशे की हालत में रहने के  कारण मैं लड़खड़ाते हुई अंदर आई।  मेरे कपड़े अस्त-व्यस्त थे पति तो मुझे गाड़ी से उतारकर वह वापस चले गए।

और मैं सीधे लड़खड़ाते हुए अपने पल्लू को ठीक करते हुए सीधे ससुर जी के कमरे में ही घुस गई।  मुझे होश ही नहीं रहा कि मेरा पति मुझे उतार कर गया मुझे लगा कि मेरा पति ही सोया है।  मेरे से गलती हो गई नशे की हालत में।  और मैं जाकर उनसे लिपट कर बोली आज की होली बहुत अच्छी रही।  मेरी जान आज तो तुमने खुशी मुझे कर दिया खूब मिला है सुबह से लेकर शाम तक।  पति हो तो तुम्हारे जैसा आज मैं बहुत खुश हूं तुम्हारे जैसा पति पाकर।  दोस्तों में इतनी पागल हो गई थी शराब पीकर के मुझे पता ही नहीं चला कि पति  नहीं बल्कि ससुर जी हैं।

आप खुद सोचो एक आदमी पर कोई लेट हो जाए बड़ी-बड़ी चूचियां जब उसके छाती पर रख दे।  उसके कपड़े अस्त-व्यस्त हो।  तो कौन ऐसा मर्द होगा जो औरत को नहीं चोदेगा।  मेरे सास को मरे हुए 8 साल हो गए।  मेरे ससुर को ऐसे भी चूत  के दर्शन नहीं हो रहे थे।  और उनको होली में ऐसा ऑफर मिल गया मैं उनके आजू बाजू में लोट रही थी।

उन्होंने  मुझे कस के पकड़ा और मेरे ब्लाउज के हुक खोल दिए पीछे से ब्रा का हुक खोल दिए।  अब मेरी बड़ी-बड़ी चूचियां जब बाहर निकले तो ससुर जी पागल हो गए उन्होंने मुझे ऐसे जोर से चुम्मा लिया और मेरे चुचियों को दबाना शुरू किया कि मैं अपनी आंखें बंद करके मज़े लेने लगी।

मैंने अपनी दोनों टांगें फैला दी उन्होंने मेरे पेटीकोट को ऊपर किया और अपना नाक मेरी चूत  में घुसा दिया। अब मैं और भी ज्यादा सेक्सी हो गई।  नशे में ज्यादा रहने के कारण मुझे कुछ भी पता नहीं चल रहा था बस मैं वासना में पागल हो गई थी।  ससुर जी ने अपना मोटा लंड निकाला और मेरी चूत  पर सेट किया और जोर से उन्होंने घुसा दिया। इतना मोटा लंड तो पति का नहीं था। मैंने तुरंत ही कहा अरे क्या बात है आज तो आपका लंड बहुत मोटा और लम्बा हो गया है। मजे आए गए। और उन्होंने जोर जोर से पेलना शुरू कर दिया। मेरे मुँह से सिर्फ हाय हाय की आवाज निकल रही थी। जब जब वो धक्के देते मैं हिल जाती मेरी चूचियां आगे पीछे होती और जोर जोर से मुझे चोद रहे थे। मेरे होठ सुख रहे थे पर चूत गीली हो रही थी। मैं आआह आआह आआह करती तो वो मुझे और भी जोर से धक्के देते।

Sasur Bahu Sex

मुझे बहुत ज्यादा मजा आने लगा था। मैं कराह रही थी और वो जोर जोर से चोद रहे थे। अब मुझे गांड चुदवाने की इच्छा हुई। तो मैंने तुरंत ही कह दिया आज मेरा पिछवाड़ा भी मार लो। आज गांड मारने की आज़ादी है। तुम रोज कहते हो गांड चोदने दो पर मैं नहीं देती पर आज तुम मेरा गांड मार लो फाड़ दो मेरी गांड। मैं नशे में थी तो दर्द का भी एहसास नहीं हुआ। उन्होंने मुझे उलटा कर अपने लंड में थूक लगा कर मेरी गांड में घुसेड़ दिया।

मैं भी चूतड़ हिला हिला कर गांड मरवाने लगी। ओह्ह्ह्हह्हह ओह्ह्ह्हह्ह्ह्ह करती और धक्के देती और गांड घुमा घुमा कर लंड को अपने अंदर ले लेती। मैं अब घोड़ी बन गयी और गांड ऊपर कर दी और सर निचे।  अब वो मेरी गांड के तरफ से चूत में लंड घुसाया और चूतड़ पर थप्पड़ मार मार कर जोर जोर से चोदने लगे। मैं अब तक गयी थी मैंने कहा बस करो आज तो मेरी गांड और चूत दोनों ही फट गयी। आज मेरी होली जबरदस्त गुजरी। रात को तो तूने रंगीन बना दिया।

इतना कहकर मैं सीधी हुई उन्होंने मेरी चूत में लंड दिया और दोनों टांगो को अपने कंधे पर रख जोर जोर से धक्के देने लगे और जल्दी जल्दी अपने लंड को अंदर बाहर करने लगे। अचानक वो जोर से आवाज निकाले  ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह और लंड चूत से बाहर निकाल कर हिलाते हुए मेरे पेट पर सारा वीर्य निकाल दिया। जब उन्होंने आवाज किया ओह्ह्ह्हह्ह की तब मेरा नशा फट गया और आँखे मेरी खुली की खुली रह गयी।

मुझे चोदने वाला मेरा पति नहीं बल्कि ससुर जी था। ओह्ह्ह्हह्हह मैंने बहुत बड़ी गलती कर दी थी नशे में पर उन्होंने कहा बहू आज तूने खुश कर दिया। अब आज से तुम्हे किसी चीज की कमी नहीं होगी। जो मर्जी ले लेना जो जेवर बनाना है बना लेना कल जाकर मार्किट। मुझे लगा चलो जो होना था हो गया अब क्यों ना इसका फायदा उठाया जाय। मैंने कहा ठीक है पचास हजार दे दो मुझे झुमके लेने हैं।

उन्होंने अपना बक्सा खोला पचास हजार मेरे हाथ पर रख दिया। उन्होंने फिर मुझे किश करने लगे मेरी चूचियां सहलाने लगे। मैं भी उनके बगल में लेटी रही उन्होंने फिर चोदा। पूरी रात वो मुझे रुक रुक कर चोदते रहे और चुदवाती रही। ये कहानी आप नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.